Dimagi Paheli With Answer Image || 100 दिमागी पहेलियाँ उत्तर सहित

Dimagi Paheli With Answer Image

नमस्कार दोस्तों मैं इस पोस्ट Dimagi Paheli With Answer image में आप लोगो को बहुत ही रोचक और ज्ञान वर्धक पहेली लिख रहा हूँ जिसे पढ़ कर के आप लोगो को बहुत ही मजा आएगा और आप लोगों को जानकारी भी बढ़ेगी आप लोग पहेली को सुलझाने के लिए दिमाग लगाएँगे दिमाग लगाने से आप लोगो का दिमाग Computer की तरह काम करने लगेगा

1काली है पर काग नहीं

लब्मी है पर नाग नहीं

बल खाती है ढोर नहीं

बांधते है पर डोर नहीं ?

उत्तर – चोटी

2 –काले वन की रानी है

लाल – पानी पीती है ?

उत्तर – खटमल

3-अपनो के ही घर ये जाये

तीन अक्षर का नाम बताये

शुरू के दो अति हो जाये

अंतिम दो से तिथि बताये ?

उत्तर – अतिथी

4-बीमार नही रहती फिर भी खाती है

गोली लडके  बूढ़े सब डर जाते सुन इसकी बोली ?

उत्तर – बन्दुक

5- एक पहेली मैं बुझाऊँ

सिर को काट नमक छिड़काऊँ ?

उत्तर – खीरा

6-खाते नहीं चबाते लोग

काठ में कड़वा रस संयोग

दांत जीभ की करे सफाई

बोलो बात समझ में आई ?

उत्तर – दांतून

7-चार ड्राइवर एक सवारी उसके पीछे जनता भारी ?

उत्तर – मुर्दा

8-मै मरू  मई कटु तुम्हे क्यों आंसू आए ?

उत्तर – प्याज

9-ऊंट की बैठक हिरण की चाल

बोलो वह कौन पहलवान ?

उत्तर – मेंढक

10-काला मुंह है लाल शरीर कागज को वह खाता है 

रोज साँझ  को पेट फाड़कर कोई उसे  ले जाता है  ?

उत्तर –  लैटरबाक्स

11-हरी डंडी लाल कमान तौबा तौबा करे इन्सान ?

उत्तर – मिर्ची

12- कल बनता धड के बिना

मल बनता सिरहीन थोडा है

पैर कटे तो अक्षर केवल तिन ?

उत्तर – कमल

13-तिन अक्षर का है मेरा नाम उल्टा सीधा एक सामान ? बताइए क्या है 

उत्तर – जहाज

100+Best Dimagi Paheli With Answer

Dimagi Paheli With Answer Image

14-काला मुंह लाल शरीर

कागज को वह खाता रोज

साँझ  को पेट फाड़कर उसका कोई उन्हें ले जाता

उत्तर – लेटर बाक्स

15-पानी से निकला दरख़्त एक

पात नहीं पर डाल अनेक

एक दरख़्त की ठंडी छाया

निचे एक बैठ न पाया ?

उत्तर – फुहारा

16-हमने देखा अजब एक बंदा

सूरज के सामने रहता ठंडा

धुप में जरा नहीं घबराता

सूरज की तरफ मुंह लटक जाता ?

उत्तर – सूरजमुखी

17-हर पन्ने पर  जमा हुआ है इसमे  ज्ञान ही जान

बस्ता खोलोगे तो इसको जाओगे तुम पहचान ?

उत्तर – किताब

18- काला हण्डा सफ़ेद  भात ले लो भाई हाथो हाथ ?

उत्तर – सिंघाड़ा

19- हाथी घोडा ऊंट नहीं खाए दाना घास

हमेसा  ही धरती पर चले कभी होय न  उदास ?

उत्तर – साईकिल

20- मैं हरी मेरे बच्चे काले

मुझको छोड़ मेरे बच्चे खाले ?

उत्तर – इलायची

21 -चार है रानियाँ और एक है राजा

हर एक  काम में उनका अपना साझा ?

उत्तर – अगूंठा और अंगुलिया

22- तीन अक्षरों का मेरा नाम आधी  कटे तो चार

मैं जनु तुम कैसा हो  बोलो तुम सोच विचार ?

उत्तर – अचार

23- एक फूल  है काले रंग का ,

सिर पर सदा सुहाए |

तेज धुप में खिल -खिल जाता ,

पर छाया में मुरझाये |

उत्तर – छाता 

24 – साँपों से भरी एक पेटारी,

सब के मुंह में दी चिंगारी |

जोड़ो हाथ तो निकल घर से ,

फिर घर पर सिर दे टपके |

उत्तर -माचिस

25 – हाथ -पैर सब जुदा -जुदा ,

ऐसी सूरत दे खुदा |

जब वह मूरत बन ठन आवे ,

हाथ धरे तो राग सुनावे |

उत्तर – हुक्का

Dimagi Paheli With Answer Image | दिमागी पहेली Image 

Dimagi Paheli With Answer Image

26 – अन्त कटे कौआ बन जाए ,

प्रथम कटे दूरी का माप |

मध्य कटे तो कार्य बने ,

तीन अक्षर का उसका नाम |

उत्तर – कागज

27 – ऐसे शब्द लिखिए जिससे , 

 फूल , मिठाई , फल बन जाये |

उत्तर – गुलाब जामुन

28 – एक छोटा सा बन्दर ,

 जो उछले पानी के अन्दर |

उत्तर – मेढक

29 – थल में पकडे पैर तुम्हारे ,

   जल में पकडे हाथ |

  मुर्दा होकर भी रहता है ,

  जिन्दों के ही साथ |

उत्तर – जूता

30 – बच्चे भी कहते हैं मामा ,

    बूढ़े भी कहते हैं मामा |

    दीदी भी कहती है मामा ,

    बोलो कौन से मामा  |

उत्तर – चंदा मामा

31 – तीन पैर की तितली ,

     नहा – धोकर निकली |

उत्तर – समोसा

32 – ऊंट की बैठक , हिरन की चाल ,

   वह कौन सा जानवर , जिसके दुम ना पाल |

उत्तर – मेढक

33 –  न काशी , न काबा धाम ,

     बिन जिसके हो चक्का जाम |

     पानी जैसी चीज है वह ,

     झट बताओ उसका नाम |

उत्तर – पैट्रोल

34 – आवाज है इन्सान नहीं ,

   जवान है निशान नहीं |

उत्तर – ऑडियो कैसेट

35 -खुशबू है गुलाब ना  है  ,

    रंगीन है लेकिन शराब ना  है  |

    सुगंध है , कोई प्रेम लेटर  ना  है  ,

   ये जहर है लेकिन  गुलाब ना है  |

उत्तर – इत्र

36 – शुरू कटे तो नमक बन जाय  ,

    मध्य कटे तो कान बन जाय  |

    अन्त कटे तो काना बन जाय  ,

   जो न जाने उसका बाप शैतान बन जाय  |

उत्तर -कानून

37 – हरी डब्बी , पिला मकान ,

    उसमे बैठे कल्लू राम |

उत्तर – पपिता और बीज

हँसाने वाली पहेलियाँ | funny dimagi paheli with उत्तर इमेज 

Dimagi Paheli With Answer Image

38 – खड़ी करो तो गिर पड़े ,

   दौड़ी मीलों जाए |

   नाम बता दो इसका ,

  यह तुम्हें हमें बिठाए |

उत्तर – साइकिल

39 – बिल्ली की पूंछ मेरे हाथ में ,

  बिल्ली रहे इलाहबाद में  |

उत्तर – पतंग

40 – नया खजाना घर में आया , 

    डब्बे में संसार समाया |

    नया करिश्मा बेजोड़ी का , 

    नाम बताओ इस योगी का |

उत्तर – टेलीविजन

41 – छोटा सा धागा , 

   सारी बात ले भागा |

उत्तर – टेलीफोन

42 – एक महल बीस कोठरी सब है फाटकदार |

    खोले तो दरवाजा मिले ना राजा , पहरेदार ||

उत्तर – प्याज

43 – तीन अक्षर का मेरा नाम , 

      प्रथम कटे तो शस्त्र बनू |

    अन्त कटे तो ज्वाला  ,

    मध्य कटे तो बनूं मैं आन 

    बोलो क्या है मेरा नाम ?

उत्तर – आँगन

44 – एक घोडा ऐसा जिसकी छः टांगे दो सुम |

     और तमाशा ऐसा देखा पीठ के ऊपर दुम ||

उत्तर – तराजू

45 – बेशक न हो हाथ में हाथ ,

      जीता है वह आपके साथ |

उत्तर – परछाई

46 – एक पहेली सदा नवेली जो जाने तो  जिन्दा ,

     जिन्दा में से मुर्दा निकला  , मुर्दा में से जिन्दा |

उत्तर – अंडा

47 – जो चीज तुझमें है वह उसमें नहीं , 

      जो चीज झंडे में है लेकिन वह डंडे में नहीं |

उत्तर – झ

48  – आगे से गाँठ गठीला , पीछे से वह टेढ़ा |

      हाथ लगाये कहर खुदा का , बूझ पहेली मेरी ||

उत्तर – बिच्छू

49 – कमर बांध कोने में पड़ी , 

     बड़ी सबेरे अब है खड़ी |

उत्तर – झाड़ू

50 – हाल पानी का देखकर बहुत ताज्जुब आए , 

     दरख़्त में डूबा भरा , डालियाँ , चिड़िया प्यासी जाए |

उत्तर – ओस

Dimagi Paheli With Answer Image

Dimagi Paheli With Answer Image

51 – काटते हैं पिसते हैं ,

    बांटते हैं , पर खाते नहीं |

उत्तर – ताशपत्ती

52 – चार हैं चिड़ियाँ ,

      चार हैं रंग |

      चरों के बदरंग ,

      चरों जब बैठे साथ ,

     लगे एक ही रंग |

उत्तर – पान

53 – छूने में शीतल , सूरत में लुभानी है  ,

    रात में मोती है और दिन में पानी है  |

उत्तर – ओस

54 – तीन अक्षर का है उसका नाम ,

     आता है जो खाने के काम |

     अन्त कटे हल बन जाये ,

     मध्य कटे तो हवा बन जाये |

उत्तर – हलवा

55 – हरी टोपी , लाल है दुशाला ,

     पेट में  मोती की है माला |

उत्तर – लाल मर्चा 

56 – एक नारी ऐसी है ,रंग जिसका काला  है |

    लगी रहती है वह पिया के संग ,

    रोशनी में संग विराजती , अन्धकार से भाग जाती |

उत्तर – परछाई

57 – नहीं चाहिए इंजन मुझको,

       नहीं चाहिए खाना ,

    मुझ पर चढ़कर आसपास का , 

   कर लो सफ़र सुहाना |

उत्तर – साइकिल 

58 – बीच ताल में थोडा पानी ,

      उसमे निचे लाल भवानी 

उत्तर – पूड़ी 

59 – आदि कट जाय  हद हो जाये ,

       अन्त कट जाय  तो राह है ,

      तीन अक्षरी बसी माधुरी ,

       कण – कण में संचित है |

उत्तर – शब्द 

60 – बिना तेल के ही जलता है ,

      पैर बिना वो ही चलता है ,

    उजियारे को बिखेर करके ,

    अंधियारे को ही दूर करता है |

उत्तर – सूरज 

61 – हाथ में हरा मुंह में लाल , 

       क्या चीज है बताओ प्यारे लाल |

उत्तर – पान 

62 – दिखने में वह काला है ,

          और जलने पर लाल ,

     फेंकने पर है वह सफ़ेद ,

    खोलो बच्चो उसका भेद | 

उत्तर – कोयला 

Whatsapp Dimagi Paheli With Answer

Dimagi Paheli With Answer Image

63 – बरसात में याद दिलाये ,

       पानी धुप में काम आये |

उत्तर – छाता 

64 – एक महल के दो रखवाले ,

       दोनों लम्बे दोनों काले ,

      ठाकुर की शान है वह ,

     मुर्दा की जान है वह |

उत्तर – मूंछ 

65 – लाल घोडा अड़ा रहे ,

      काला घोडा भागता जाये |

उत्तर – आग – धुआं 

66 – दिखने में मैं बाँस सरीखा ,

      नहीं मैं कडुवा नहीं मैं तीखा ,

      स्वाद मधुर , स्पर्श रसीला ,

      गर्मियों तक चले मेरा सिलसिला |

उत्तर – गन्ना 

67 – धुप देख मै आ जाऊँ ,

       छांव देख शरमा जाऊ ,

       जब हवा करे स्पर्श मुझे , 

      मैं उसमें समा जाऊ |

उत्तर – पसीना 

68 – शंकर जी का हूँ पर्याय 

       सबको मेरा रंग रूप सुभाए है 

      मैं हूँ नभ पर खग काया है  ,

      कोई जीनियस है जो मेरा नाम बताए |

उत्तर – नीलकंठ 

69 – चार खंडो को नगर बना ,

        चार कुँए बिन पानी 

        चारे आदरह उसमें बैठ ,

         लिए एक रानी 

         आया एक दरोगा 

         सबको पिट – पीटकर 

         कुँए में डाला |

उत्तर – कैरम – बोड 

70 – लम्बी पूंछ  पीठ पर रेखा , 

       दोनों हधो खाते देखा | 

उत्तर गिलहरी 

71 – अपनों  में ये मित्र बड़ा  है ,

       चार पड़ा  है और चार खड़ा  है |

      इच्छा हो जो तो उस पर बैठो ,

       या फिर बहुत  मजे से लेटो |

उत्तर – खाट 

72 – कान मरोड़ो पानी दूंगा ,

        नहीं दाम मै कुछ भी लूँगा |

उत्तर – नल 

73 – चार चौकड़ी मैन बाजार ,

सोलह बेटी के एक दमाद |

उत्तर – पासा

74 – आते जाते दुःख है देते ,

बीच में देते आराम ,

कड़ी – दृष्टि रखना इन पर

सदा सुबह और शाम |

उत्तर – दांत

Hindi Paheli With Answer

Dimagi Paheli With Answer Image

Dimagi Paheli With Answer Image

75 – यह हमको देती आराम ,

यह ऊँची तो ऊँचा नाम ,

बड़े – बड़े लोगो को देखा

इसके लिए होता संग्राम |

उत्तर – कुर्सी

76 – जा को जोड़ बने जापान ,

बड़ो – बड़ो के मुंह की शान |

उत्तर – पान

77 – लाल – लाल डिबिया पीले है खाने ,

डिबिया के भीतर मोती के दाने |

उत्तर – अनार

78 – गिन नहीं सकता कोई ,

है मुझसे ही रूप

दिमाग को ढके रखता

सर्दि बरसात व धुप |

उत्तर – बाल

79 – सीस कटे तो दल बने ,

पैर हटाये बाद

पेट निकाले बाल है |

करो शब्द यह यद् |

उत्तर – बादल

80 – मैं हूँ एक अनोखी रानी ,

पैरो से पीती हूँ पानी |

उत्तर – लालटेन

Samanya Gyan Gk 

81 – तुम मेरे पीठ पर बैठो ,

मैं आकाश घुमाऊंगा |

उत्तर – हवाई जहाज

82 – दिन में सोये रात को रोये

जितना रोये उतना खोये |

उत्तर – मोमबत्ती

83 – रंग बिरंगी मेरी काया है ,

बच्चो को मुझ से भाया है ,

धरा चला मुझको भाया है

मुरली अधर न लाया है |

फिर भी नाद सुनाया है |

उत्तर – लट्टू

84 – शिवजी जटा में गंगा का पानी ,

जल का साधू बूझो तो ज्ञानी

उत्तर – नारियल

85 – मंदिर में इसे शीश नवायें ,

मगर राह में ठुकराए |

उत्तर – पत्थर

86 – दूर के दृश्यों को वह घर पर दिखलाता है |

उसका नाम बतलाये  लड़कों  वह हर एक  मन को भाता है |

उत्तर – दूरदर्शन

87 – अधर ऊपर पत्थर पत्थर ऊपर जैसा है  |

बगैर  जल  के महल उठाये, वह कारीगर कैसा है |

उत्तर – सीयार

Dimagi Paheli With Answer Image | दिमागी पहेलियाँ जवाब के साथ 

88 – सर  काट दो दिल दिखलाता हूँ , पैर काट दो तो आर्द्र बना हूँ |

पेट काटो  तो  , कुछ न बताता हूँ,   प्रेम से अपना सर  नवाता हूँ  |

उत्तर – नमन

89 – यदि मुझको उल्टा कर देखो , लगता हूँ मैं नव जवान |

कोई प्रथम नहीं रहता बुढा , बच्चा या जवान |

उत्तर – वायु

90 – अगर नाक में चढ़ जाऊं

कान पकड़ कर तुम्हें पढाऊँ |

उत्तर – चश्मा

91 – मैं हूँ हरे रंग की रानी देखकर आये मुंह में पानी ,

जो भी मुझको चबाएं , उसका मुंह लाल हो जाए |

उत्तर – पान

92 – बाप बहुत ही खुरदुरा टेढ़ा मेढ़ा होता ,

देखते मन ललचात है बेटा ऐसा होता है |

उत्तर – आम

93 – पैर नहीं है  फिर भी  चलती हूँ , कभी नहीं राह बदलती हूँ |

नाप  जोखकर कर चलती हूँ , तब भी नही घर से टलती हूँ |

उत्तर – घडी

94 – मेरे शरीर में दस खिड़कियाँ , अंगुली डाल घुमाओ जी

चाहे जिससे  करो तुम बात , अपना हाल सुनाओ जी |

उत्तर – टेलीफोन

95 – पूंछ कटे तो सीना हो जाय  , सिर कटे तो मित्र ,

मध्य कटे तो खोपड़ी बन जाय  , पहेली बड़ी विचित्र |

उत्तर – सियार

96 – काला हूँ कलूटा हूँ ,

       हलवा पूरी खिलाता हूँ |

उत्तर – कड़ाही 

97 – बाँस जैसा दुबला पतला हूँ रस से भरा ,

        चाहे मुझको छिल कर खाओ या चबा कर रस निकालो |

उत्तर – गन्ना 

98 – लिखता हूँ पर पैन नहीं चलता हूँ पर गाड़ी नहीं ,

        टिक टिक करता हूँ पर घडी नहीं |

उत्तर – टाईपराइटर 

99 – चलने को तो चलता हूँ गर्मी में सुख पहुंचाता हूँ ,

        पैर भी है मेरे तीन मगर आगे बढ नहीं पाता हूँ |

उत्तरं – पंखा 

100 – धरती में पैर छिपाता आसमान में शीश उठाता |

          हिलता लेकिन  कभी न चल पाता पैर से हूँ भोजन खाता ,

          क्या नाम हैं मेरा  मेरे भ्राता |

उत्तर – पेड़ 

Dimagi Paheli With Answer Image

हिंदी पहेली 

 

 

 

1 thought on “Dimagi Paheli With Answer Image || 100 दिमागी पहेलियाँ उत्तर सहित”

Leave a Comment