Moral Stories In Hindi For Class 10 || सफलता पाने के लिए कहानियाँ

Moral Stories In Hindi For Class 10

राजा और दो बाजों की कहानी 

Motivational Story In Hindi For Success

बहुत समय पहले की बात है एक राजा को गिफ्ट में किसी ने बाज के दो बच्चे दिए

बहुत ही अच्छी ब्रेड के थे | और राजा ने इससे पहले कभी इतने शानदार इतने सेहतमंद

इतने हेल्दी बाज नहीं देखे थे | राजा ने उनकी देखभाल के लिए बहुत ही एक्सपीरियंस

आदमी को अप्वॉइंट किया जब कुछ महीने बीत गए तो राजा ने बाजों को देखने का मन

बनाया | और उसी जगह पहुंच गए जहां बाजों को पाला जा रहा था | राजा ने देखा दोनों

Moral Stories In Hindi For Class 10

बाज काफी बड़े हो चुके हैं और पहले से बहुत अच्छे लग रहे थे राजा ने केयरटेकर को कहा

मैं उनकी उड़ान देखना चाहता हूं | तुम इन्हें उड़ने का इशारा करो उस केयरटेकर ने ऐसा

ही किया इशारा मिलते ही दोनों बाज उडान भरने लगे लेकिन एक बाज  आसमान की

ऊंचाइयों को छू रहा था तो वही दूसरा कुछ ऊपर जाकर वापस उसी डाल पर आकर बैठ

गया जिससे वह उड़ा था | यह देख राजा को बड़ा अजीब लगा उसने उनके केयरटेकर से

पूछा क्या बात है जहां एक बाज इतनी अच्छी उड़ान भर रहा है तो वही दूसरा बाज  उड़ना

ही नहीं चाह रहा इस पर वह केयरटेकर जवाब देता है हुजूर इस बाज के साथ तो शुरू से

यही समस्या है वह इस डाल को छोड़ना ही नहीं चाह रहा है मैं बहुत कोशिश करके देख

ली | लेकिन नहीं,  इसको मैं आसमान में उड़ने के लिए भेजता हूं वापस आ जाता है अपनी

इस डाल  पर – राजा को दोनों ही बाज  प्यारे थे और वह दूसरे बाज को भी उसी तरह से

उड़ना देखना चाहते थे अगले दिन पूरे राज्य में यह ऐलान कर दिया गया कि जो इंसान

दो बाजों की कहानी ,Moral Stories In Hindi For Class 10 

इस बाज को ऊंचा उड़ाने में कामयाब होगा उसे बहुत पैसा दिया जाएगा इनाम के रूप

में बस फिर क्या था एक से एक बढ़कर विद्वान आए और बाज को उड़ाने की कोशिश

करने लगे पर कई हफ्ते बीत जाने के बाद भी बाज का वही हाल था वह थोड़ा सा उड़ता

था और वापस आकर उसी डाल पर बैठ जाता था |

फिर एक दिन कुछ अनोखा हुआ

रजा ने देखा उसके दोनों बाज आसमान में उड़ रहे  उसे अपनी आंखों पर विश्वास ही

नहीं हुआ और उसने तुरंत उस व्यक्ति का पता लगाने के लिए कहा जिसने यह

कारनामा कर दिखाया था वह व्यक्ति एक किसान था अगले दिन वह दरबार में

हाजिर हुआ और उसे इनाम के रूप में राजा ने बहुत पैसा दिया और कहा मै तुमसे

बहुत खुश हूँ बस तुम इतना बताओ जो काम बड़े – बड़े विद्वान् नहीं कर पाएं ओ

तुमने कैसे कर दिखाए इस पर किसान बोला मालिक मै तो एक साधारण सा

किसान हूँ मै ज्ञान की बातें तो नहीं जानता मैंने वह डाल काट दिया जिस पर

बाज बैठने का अदि हो चुका था | और जब वह डाल ही नहीं रही तो

वह अपने साथी के साथ उड़ने लगा |

कहानी 2- बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा,Moral Stories In Hindi For Class 10 

Motivational Story In Hindi For Success

एक बहुत से बड़े घर में बहुत सारे चूहे रहते थे |वह चारों तरफ उछल-कूद करते हुए अपना

पेट आराम से भर लेते थे और फिर जब उन्हें कुछ खतरा दिखाई देता था तो अपने बिल में

जाकर छिप जाते थे | एक दिन उस घर में न जाने कहां से बिल्ली आ गई बिल्ली की नजर जैसे

ही चूहों  पर पड़ी उसके मुंह में तो पानी आ गया| बिल्ली ने उन चूहों को खाने के आईडिया

से इस घर में अपना डेरा डाल दिया उसे जब भी भूख लगती वह अंधेरे में अपनी जगह में छुप

जाती और जैसे ही चूहा बिल से बाहर आता उसे मार कर खा जाती तो बिल्ली रोज-रोज चूहों

को खाने लगी इस तरह से कुछ ही दिनों में वह पतली सुकड़ी बिल्ली बहुत मोटी ताजी हो गई |

Moral Stories In Hindi For Class 10

बि ल्ली के आ जाने से बेचारे चूहे बहुत दुखी हो गए थे |धीरे-धीरे चूहों  की संख्या  कम हो रही थी

और यह देखकर बेचारे चूहे बहुत डर रहे थे |चूहों  के मन में बिल्ली का डर बैठ गया बिल्ली से

बचने का कोई सॉल्यूशन खोजने के लिए सभी चूहों ने मिलकर एक मीटिंग की मीटिंग में सभी

चूहों ने अपनी अपनी बात रखी लेकिन कोई भी सॉल्यूशन ऐसा नहीं था जो की सभी को ठीक

लगे इससे सभी चूहा फिर से निराश हो गए तभी अचानक से उनमें से एक बूढ़ा चूहा बोलता है

भाइयों सुनो मैं तुम्हें एक सुझाव देता हूं जिस पर अमल करके हमारी समस्या का हल निकल

सकता है अगर कहीं से एक  घंटी  और एक धागा मिल जाए ना तो हम उस घंटी को बिल्ली के

गले में बांध देंगे जब बिल्ली चलेगी तो उसके गले में बंधी हुई घंटी भी बजने  लगेगी घंटी की

Moral Stories In Hindi For Class 10 || 

आवाज हमारी खतरे का साइन होगी हम घंटी की आवाज सुनते ही चौकन्ने  हो जाएंगे और

अपने-अपने बिल में जाकर छुप जाएंगे बूढ़े चूहे का यह सुझाव सुनकर सभी चूहे खुशी से झूम

उठे और अपनी खुशी दिखाने के लिए जोर-जोर से नाचने  और गाने लगे | चूहे यह  यह मान

चुके थे कि अब उन्हें बिल्ली से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाएगी और फिर से वह आजाद होकर

घूम सकेंगे तभी उनमें से सबसे ज्यादा एक्सपीरियंस चूहे ने कहा तुम सब मुर्ख हो तुम इस तरह

खुशियां मना रहे हो जैसे कि तुमने कोई युद्ध जीत लिया क्या तुमने सोचा है कि बिल्ली के गले में

जब तक घंटी नहीं बंधेगी  तब तक हमें बिल्ली से मुक्ति नहीं मिल सकती उस एक्सपीरियंस चूहे

की बात सुनकर सारे चूहे मुंह लटका कर बैठ गए उनके पास उस चूहे के सवाल का कोई उत्तर

नहीं था | तभी उन्हें बिल्ली के आने की आहट सुनाई दी और सारे चूहे डर कर अपने-अपने बिलों

में घुस गए कहने  का मतलब है लंबी-लंबी , बड़ी-बड़ी प्लानिंग बनाने से किसी प्रॉब्लम का

सॉल्यूशन नहीं मिलता प्रॉब्लम का सॉल्यूशन उस प्रॉब्लम को सॉल्व करने से मिलता है |

कहानी 3 – धन दौलत चली जाय पर ईमानदारी ना जाय,Moral Stories In Hindi For Class 10 

Motivational Story In Hindi For Success

शहर का एक नामी बिजनेसमैन, लोग दूर-दूर तक उसकी तारीफ किया करते थे उसकी

ईमानदारी की उसके बिजनेस करने के तरीके की | एक बार क्या हुआ वह क्रूज

(पानी वाली जहाज )से कहीं जा रहा था काफी दिन का सफर था तो उसकी काफी सारे

लोगों से जान पहचान होगयी | उनमें से कुछ लोग उसके शहर के भी थे |और होता है ना

हमारे साथ की कई बार हम भोलेपन के कारण या फिर ट्रस्ट के कारण दूसरे इंसान के सामने

Moral Stories In Hindi For Class 10

अपनी वह बातें रख देते हैं जो कि शायद हमें नहीं करनी चाहिए तो ऐसा ही कुछ उस

बिजनेसमैन के साथ हुआ एक शाम सारे बैठे हुए थे तो उसके मुंह से अचानक ही  निकल

गया कि मेरे पास तो इस वक्त 10000 डॉलर  है उस मंडली में बैठे एक व्यक्ति के मन में

लालच आ गया उन डॉलर्स को चुराने के लिए  दिन रात उसने प्लानिंग बनाई अपने दिमाग

में की कैसे उस बिजनेसमैन से वह 10000 डॉलर्स चुरा ले एक दिन सुबह-सुबह वह जोर-जोर

से चिल्लाने लगा मेरे 10000 डॉलर गुम हो गए मेरे 10000 डॉलर गुम हो गए | किसी ने

चोरी कर ली वगैरा वगैरा |क्रूज  पर हलचल   मच गया इतने में क्रूज  के सुरक्षा वाले आये

और कहते हैं आप सांत रहिये हम आपकी मदद करते हैं जितने लोग इस समय क्रूज पर हैं

सबकी तलाशी ली जाएगी जो चोर होगा वह पकड़ा जायेगा आप चिंता मत करिए | बस सांत

रहिये सभी यात्रियों की तलासी सुरु हो गयी और जब बिजनेसमैन की बारी आई तो क्रूज के

कार्यकर्त्ता और वहां पे मौजूद जो बाकी यात्री थे उनसे कहा आपकी क्या तलासी ली जाय

आप पर तो शक करना भी गुनाह है यह सुनकर वह बिजनेसमैन बोला नहीं जिसके डॉलर्स

चोरी हुए हैं न उसके दिल में यह बात रह जाएगी | तो प्लीज आप मेरी भी तलासी लीजिये दो

दिन के बाद वही टूरिस्ट   उदास मन से उस बिजनेसमैन के पास जाता है और कहता है आपके

पास जो 10000 डॉलर्स थे वह कहां गए वो बिजनेसमैन स्माइल करके कहते हैं उन्हें  मैंने समुद्र

में फेक दिया  तुम जानना  चाहते हो क्यों ? वह इसलिए कि मैं जिंदगी में सिर्फ दो ही दौलत

कमाई थी एक ईमानदारी और दूसरा लोगों का विश्वास | अगर मेरे पास से वह डॉलर्स मिलते औरMo

Moral Stories In Hindi For Class 10

मैं लोगों से कहता कि यह मेरे ही है तो लोग यकीन भी कर लेते  लेकिन फिर भी मेरी ईमानदारी

और सच्चाई पर लोगों को शक बना रहता |  तो इसलिए मैं अपना पैसा तो गँवा  सकता हूं लेकिन

ईमानदारी और सच्चाई को खोना नहीं चाहता किसी भी कीमत पर यह सुन उस बिजनेसमैन से

बहुत माफी मांगी टूरिस्ट ने |

कहानी 4- लालची आदमी,Moral Stories In Hindi For Class 10 

Motivational Story In Hindi For Success

एक शहर में एक आदमी रहता था बहुत ही लालची था उसने सुन रखा था कि अगर संतों की सेवा

करो तो बहुत ज्यादा पैसा मिलता है | यह सोचकर उसने साधु संतों की सेवा करनी शुरू कर दी

एक बार उसके घर एक बहुत ही चमत्कारी संत आए उन्होंने उसकी सेवा से खुश होकर उसको

चार  दिए दिए और कहा इनमें से एक दिया जला लेना और पूर्व दिशा की ओर चले जाना जहां

Moral Stories In Hindi For Class 10

यह दिया बुझ जाए वहां की जमीन को खोद  लेना वहां तुम्हें काफी पैसा मिलेगा अगर फिर तुम्हें

पैसे की जरूरत पड़े तो दूसरा दिया जला लेना और पश्चिम दिशा की ओर चले जाना जहां यह दिया

बुझ जाए वहां की जमीन खोद  लेना तुम्हें मनचाही माया मिलेगी फिर भी अगर तुम सेटिस्फाइड ना

हो तो तीसरा दिया जला लेना और दक्षिण दिशा की ओर चले जाना  उसी तरह दिया बुझने पर जब

तुम वहां की जमीन खोदोगे  ना तो तुम्हें बेइंतहा दौलत मिलेगी तब तुम्हारे पास सिर्फ एक ही दिया

बच जाएगा और एक ही दिशा रह जाएगी तुम्हें यह दिया नाही  जलाना है और नाही इसे उत्तर

Moral Stories In Hindi For Class 10

दिशा की ओर ले जाना है यह कहकर संत चले गए लालची आदमी उसी  वक्त पहला  दिया जलाकर

पूर्व दिशा की ओर चला गया दूर जंगल में जाकर दिया बुझ गया उस आदमी ने उसी  जगह को खोदा

Short Moral Stories For Kids In Hindi

और उसे पैसों से भरा एक घड़ा मिला वह बड़ा खुश हुआ उसने सोचा इस घड़े  को तो फिलहाल में

यही रहने देता हूं फिर कभी ले जाऊंगा पर पहले मुझे जल्दी से पश्चिम दिशा वाला धन देख लेना चाहिए

यह सोंचकर उसने दुसरे दिन दूसरा दिया जलाया  और पश्चिम दिशा की ओर चल पड़ा दूर एक बंजर

जगह पर दिया जाकर बुझ गया  तो उसे सोने की मोहरों से भरा एक संदूक मिला उसने संदूक को

Moral Stories In Hindi For Class 10

यही सोंचकर वहीँ रहने दिया दिया कि पहले दक्षिण दिशा में जाकर देख लेते हैं कि वहां क्या मिलेगा

जल्दी से जल्दी ज्यादा से ज्यादा पैसा लेने के लिए वह बेचैन हो रहा था अगले दिन वह दक्षिण दिशा

की ओर चल पड़ा दिया एक मैदान में जाकर बुझ  गया उसने वहां की जमीन खोदी तो उसे हीरे

मोतियों से भरी दो पोटलिया मिली वह आदमी अब बड़ा खुश था

Moral Stories In Hindi For Class 10

लेकिन वह सोचने लगा अगर इन तीनों दिशाओं में इतना धन है तो चौथी दिशा में तो इससे भी

ज्यादा धन होगा फिर उसके मन में

ख्याल आया कि संत ने चौथी दिशा की ओर जाने के लिए मना किया था दूसरे ही पल उसके मन  ने

कहा हो सकता है उत्तर दिशा की दौलत संत अपने लिए रखना चाहते हो तो मुझे जल्दी से जल्दी उस

पर कब्जा कर लेना चाहिए ज्यादा से ज्यादा धन प्राप्त करने के लालच में उसे संत के वचन को दोबारा

सोचने का मौका ही नहीं मिला अगले दिन उसने चौथा  दिया जलाया और जल्दी-जल्दी उत्तर दिशा

की ओर चल पड़ा दूर आगे एक महल के पास जाकर दिया बुझ गया महल का दरवाजा बंद था उसने

Motivational Kahani In Hindi

दरवाजे को धकेला तो दरवाजा खुल गया वह बहुत खुश हुआ उसने मन ही मन सोचा कि यह महल

उसके लिए ही है अब तीनों दिशाओं की दौलत को लेकर वह यही रखेगा और ऐश करेगा  वह आदमी

महल के एक-एक कमरे में गया कोई कमरा हीरे मोतियों से भरा हुआ था तो किसी कमरे में कीमती से

कीमती ज्वेलरी भरी हुई थी इसी तरह बाकी कमरों में भी बेइंतिहा धन था वह आदमी चका चौन्द  होता

जाता और अपनी किस्मत को शाबाशी देता वह जरा और आगे बढ़ा  तो उसे कमरे में चक्की चलाने की

आवाज सुनाई दी उसने देखा  एक  बुढ्ढा इंसान चक्की चला रहा है लालची आदमी ने बूढ़े से कहा तुम

कैसे पहुंचे यहाँ |

Moral Stories In Hindi For Class 10

बूढ़े ने कहा ऐसा कर जरा चक्की  चला मैं साँस लेकर बताता हूँ लालची आदमी ने

चक्अंकी चलानी शुरू कर दी बुढा चक्की से हट जाने पर जोर -जोर से हंसने लगा लालची आदमी

उसकी ओर हैरानी से देखने लगा वह चक्की बंद ही करने लगा था बूढ़े ने ख़बरदार करते हुए कहा

ना -ना चक्की चलानी बंद ना कर फिर बूढ़े ने कहा यह महल अब तेरा है लेकिन यह उतनी देर तक

खड़ा रहेगा जीतनी देर तू चक्की चलाता रहेगा अगर चक्की चलनी बंद हो गयी तो महल गिर जायेगा

Moral Stories In Hindi For Class 10

तू इसके निचे दबकर मर जायेगा बुढा फिर कहने लगा मैंने भी तेरी तरह लालच करके उस संत की

बात नहीं मानी थी और मेरी सारी जवानी इस चक्की को चलाते बीत गयी वह लालची आदमी बूढ़े की

बात सुनकर रोने लगा और फिर कहने लगा अब मेरा इस चक्की से छुटकारा कैसे होगा बूढ़े ने कहा

जब तक मेरे और तेरे जैसा लालच में अँधा होकर  यहां नहीं आएगा तब तक तू इस चक्की से छुटकारा

Moral Stories In Hindi For Class 10

नहीं पा सकता तब उस लालची आदमी ने बूढ़े से आखरी सवाल पूछा तू  अब बाहर जाकर क्या

करेगा बूढ़े  ने कहा मैं सब लोगों से ऊंची ऊंची कहूंगा लालच बुरी बला है लालच बुरी बला है जानते

हम सब हैं की लालच बुरी बला  है लेकिन हो क्या जाता है |

Moral Stories In Hindi For Class 10

Leave a Comment